Saturday, August 19, 2017

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों


अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों
***********************shortstory


दो विरोधी गुटो के नेता आपस में बहस कर रहे थे नये सत्ताारूढ दल के नेता ने भूतपूव सरकार के नेताओ को देश की मौजूदा सि्थति का जिम्मेदार बता रहे थे कि इतने सालो तक देश पर राज किया पर देश वही का वही है उन्होने सिर्फ देश को खोखला किया और नेताओ ने लूटा जनता को बस.अब देखना हम इस को  कैसे सोने की चिडिया बनायेगे .
 भूतपूव सत्तारूढ दल का एक बुजुग नेता बहुत देर से सारी बाते सुनता रहा..बाद में  उठ कर खडा हुआ और नम आँखो से बस  इतना ही बोला...."कर चले हम फिदा जानो तन साथियो अब तु्म्हारे हवाले वतन साथियो ...".!!!!

आखिर क्यों ??

****************** " क्या माँगती हो भगवान से पूजा पाठ कर ! " पूजा गृह से वापस लौटी सन्जना पर तंज कसता हुआ नवीन मुँह टेढा कर मुस...

life's stories